06/01/2018   अमेरिका का पाकिस्तान पर दबाव, आतंकवाद तो कतई नहीं
अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने पाकिस्तान को दी जानी वाली मदद रोकने की बात क्या कि भारतीय मीडिया ने इसे हमारी सरकार की सबसे बड़ी कूटनीतिक विजय साबित करने में कोई कोर कसर बाकी नहीं रखी। कहा यहां तक गया कि भारत के दबाव के चलते पाकिस्तान में मौजूद मुंबई हमले के मास्टर माइंड हाफिज सईद को रिहा करना पाकिस्तान को भारी पड़ रहा है।

हकीकत इससे ठीक उलट है। दरअसल अमेरिका को इस बात से कोई लेना-देना नहीं कि पाकिस्तान भारत से भागे आतंकियों और अन्य अंडरवर्ल्ड डॉन को प्रश्रय दे रहा है या उनका इस्तेमाल भारत के खिलाफ कर रहा या आतंकवादियों को मदद के तौर पर उनका इस्तेमाल कर रहा है। बहरहाल यह सच है कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने नए साल के मौके पर ट्विट करते हुए कहा था कि 'अमेरिका ने मूर्खतापूर्ण परंपरा के आधार पर पिछले पंद्रह सालों में मदद के नाम पर 33 अरब से भी अधिक राशि पाकिस्तान को दी है, जबकि उन्होंने हमें महज झूठ, फरेब दिया है मानों उनके लिए हमारे नेता बेवकूफ हों। उन्होंने उन आतंकवादियों को भी पनाह दी, जिन्हें हम उनकी छोटी सी सहायता से अफगानिस्तान में तलाश रहे थे। यह सब अब नहीं।’ इस पूरे ट्विट में एक लाइन है जिसने भारतीय मीडिया को अमेरिकी बयान में भारत का हित सधता हुआ नजर आया है। वह यह कि पाकिस्तान ने उन आतंकवादियों को भी पनाह दी, जिन्हें अफगानिस्तान में तलाशा जा रहा था। इस प्रकार हमने यह मान लिया कि अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप ने ओसामा बिन लादेन की नहीं बल्कि हाफिज सईद की बात ट्विट के जरिए की है। वैसे भी मोस्ट वांटेड आतंकी लादेन को तो पाकिस्तान में ही एक विशेष सैन्य अभियान के तहत अमेरिका द्वारा मारा जा चुका था। बावजूद इसके, इसमें शक नहीं कि ट्रंप का
ट्वीट पाकिस्तान के लिए खलबली मचाने वाला रहा, लेकिन इससे दक्षिण एशियाई राजनीति पर कोई खास फर्क पडऩे वाला नहीं है, क्योंकि सभी जानते हैं कि अमेरिका के लिए पाकिस्तान से संबंध बनाए रखना कितना महत्वपूर्ण है। इसमें भी शक नहीं कि ट्रंप का ट्वीट बेहद करारा और एकदम निशाने पर चोट करने वाला है,
लेकिन यह भारत के लिए निर्णायक साबित होने वाला है ऐसा कतई नहीं है। यहां हमें समझना होगा कि अमेरिकी-पाकिस्तानी रिश्ते भारत और अमेरिका के संबंधों से कुछ ज्यादा ही गहरे और शीतकालीन समय के जांचे-परखे रिलेशन हैं। इस स्थिति में पाकिस्तान का चीन की ओर आर्थिक गलियारे के जरिए सामरिक संबंध मजबूत करने की ओर बढऩा अमेरिका को कैसे पसंद आ सकता है। यही वजह है कि ट्रंप ने पाकिस्तान के लिए बाउंसर बॉल डाल दी, जिससे अब पाकिस्तान की तिलमिलाहट साफ देखी जा सकती है। इस कारण पाकिस्तान के विदेश मंत्री ख्वाजा मोहम्मद आसिफ ने उसी ट्विटर पर लिखते हुए कहा कि पाक ट्रंप को जवाब देगा और इसी के साथ सच और झूठ अलग-अलग हो जाएंगे। यही नहीं बल्कि पाकिस्तान सरकार ने तो अमेरिकी राजदूत डेविड हेल को भी तलब कर लिया और प्रधानमंत्री शाहिद खाकन अब्बासी की अध्यक्षता में राष्ट्रीय सुरक्षा समिति की त्वरित बैठक भी हो गई। इस बैठक में अनेक स्तरों पर अमेरिका द्वारा की जा रही पाक की आलोचनाओं पर बात हुई। गौरतलब है कि जब से ट्रंप राष्ट्रपति बने हैं तभी से उन्होंने अनेक मंचों से पाक की आलोचना की है, लेकिन अभी तक कोई ऐसा कदम आगे नहीं बढ़ाया गया है जिससे यह कहा जा सके कि पाकिस्तान में मौजूद आतंकवादियों और उनके प्रशिक्षण कैंपों को नेस्तोनाबूद कर दिया जाने वाला है। ऐसे में अमेरिकी रक्षा सचिव जेम्स मैटिस द्वारा पाकिस्तान की अपनी यात्रा में अफगानिस्तान में शांति प्रयासों में उसकी कमतर होती भूमिका की आलोचना हो या फिर अमेरिकी अधिकारियों के बयानों की झड़ी लग जाने जैसा मामला हो, लेकिन इन सब का आतंकवाद खत्म करने और पाकिस्तान को सबक सिखाने जैसा संदेश कतई नहीं मिलता है। दरअसल अमेरिका तो पाकिस्तान की मौजूदा सरकार पर इस बात के लिए लगातार दबाव बनाने में लगा हुआ है कि वह चीन से और ज्यादा नजदीकी न बनाए। अमेरिका को अपने हित साधने हैं, इसके लिए वह लगातार पाकिस्तान को मदद देकर पालता रहा है और आगे भी ऐसा करता रहेगा। इससे आतंकवाद को साफ करने में मदद मिलने वाली है ऐसा कतई नहीं है और न ही आतंकवाद विरोधी अभियान में इससे विशेष फर्क भी पडऩे वाला नहीं है।


Back

गांव नाथूपुर में अवैध कब्जे हटाकर जमीन खाली कराया
अनाधिकृत निर्माणों पर निगम सख्त
नीलांचल सोसायटी ने केरल त्रासदी के लिए गुरुग्राम में चलाया सहयोग संग्रह अभियान
तीन विकास कार्यों के टेंडर को दी गई मंजूरी
बादशाहपुर के हर गांव में कराए गए काम
बार एसो. ने केरल बाढ़ पीडि़तों के लिए दिए एक लाख 51 हजार
कैरियर गाइडेंस कार्यक्रम : छात्रों को दिए गए सफलता टिह्रश्वस
नशा रोकने के लिए कदम उठा रही है सरकार
स्वच्छता पखवाड़े के तहत इंडियन ऑयल ने बांटे डस्टबीन
एसएमडी स्कूल में रक्षाबंधन मनाया गया
आदर्श पब्लिक स्कूल (एपीएस 20) में मनाया गया ईद उत्सव
पंजाब को आगे बढ़ाएगा स्टार्टअप शिखर सम्मेलन
क्या हाल मिस्टर पांचाल में कन्हैया की भूमिका निभा रहे मनिंदर सिंह इस साल रक्षा बंधन का जश्न कैसे मना रहे हैं?
मुस्कान में आरती की भूमिका निभा रहीं अरीना डे इस साल रक्षा बंधन कैसे मना रही हैं?
लूट के प्रयास का एक आरोपी काबू
सोमवार से विधानसभा में हंगामे के आसार खैहरा गुट ने विधानसभा के बाहर लगाए सरकार के खिलाफ नारे
15 साल के शार्दुल को डबल ट्रैप में रजत
रमणीक स्थल बनाए जाने के बदले में लोगों को दिया डंपिग सेंटर
अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखे जाएंगे बड़े प्रोजेक्टों के नाम
बच्चें समाज का अभिन्न अंग : रामबिलास
Copyright @ 2017.