06/01/2014   नाटक: द वुमन हू डिड नॉट वान्ट टू कम डाऊन टू अर्थ - एक त्रयी (एकल प्रदर्षन)
निर्देषक और नाटककार: गेब्रियल निहॉस संस्था: गेब्रियल निहॉस फ़िज़िकल थियेटर, तेल अवीव इज़राइल भाशा: मुख्यतः ग़ैर षाब्दिक, बीच में कुछ अंग्रेज़ी षब्द अवधि: 50 मिनट

नाट्यदल

गेब्रियल निहॉस एक स्वतंत्र एकल कलाकार हैं और भारत रंग महोत्सव में अपना एकल महिला प्रदर्षन लेकर आ रही हैं।

नाटक

यह मिनी सीरीज़ एक औरत की ज़िन्दगी को दर्षाती है जो ज़मीन पर पाँव रखने को तैयार नहीं है। जब उसके ऊपर तरह-तरह के दबाव पड़ते हैं और धमकियाँ आने लगती हैं तो वह उनसे अपनी ही विषेश षैली में लड़ने की कोषिष करती है। उसकी हास्यास्पद हरकतें गुरुत्वाकर्शण और प्रकृति के सारे नियमों को चुनौती देती हैं। इस त्रयी के तीनों भाग उसके चरित्र के अलग-अलग रंगों को ख़ूबसूरती से प्रदर्षित करते हैं।

इस नाट्य श्रृंखला की षुरुआत हास्य से होती है जब वह धूल से बचने के लिये कमरे के फ़र्नीचर का इस्तेमाल करती है जो उसके लिए बाधाएं भी खड़ी करता है। पर धीरे-धीरे नाटक उसके अस्तित्व के अति संवेदनषील पहलुओं को दर्षकों के सामने लाने में सफलता प्राप्त करता है।

यह त्रयी आत्मकथात्मक तरीक़े से षुरु होकर एक ऐसे व्यक्ति की कहानी बन जाती है जो षायद हम सबके अन्दर ज़िन्दा है और जो अपने अस्तित्व को, अपनी पहचान को बचाये रखने के लिये कुछ भी करने को तैयार है।

निर्देषकीय

इस प्रस्तुति के तीनों प्रकरणों की तैयारी सन् 2012 में क्लिपा अडूमा तथा इन्टिमा डान्स उत्सवों के लिए तेल अवीव में की गई। हर प्रकरण में रोज़मर्रा की वही वस्तुएं और फर्नीचर अलग-अलग तरीक़े से इस्तेमाल की जाती हैं और इनमें से कुछ एक तरीक़े चौंकाने वाले भी हैं, जिन्हें हम एक ट्रिलोजी या त्रयी के रूप में प्रस्तुत कर रहे हैं।

निर्देषक एवं नाटककार 

गेब्रियल निहॉस स्विट्ज़रलैंड में जन्मीं कलाकार हैं जो एक स्वतंत्र नृत्याँगना और अभिनेत्री हैं। आपने लंदन और ब्रसेल्स में नृत्य सीखा और ब्रसेल्स, लंदन, जेनेवा, पेरिस और ज़ूरिक में एक लम्बे कैरियर के बाद इज़राइल में आकर बस र्गइं। यहां आकर आपने अभिनय की विभिन्न षैलियों, नृत्य और अन्य कला माध्यमों के साथ मिलकर एक नयी विधा बनाने की कोषिष की। गेब्रियल ने क्लिपा अडूमा महोत्सव में वर्श 2009, 2010 और 2012 में भाग लिया और इन्टिमा डान्स फ़ैस्टिवल में वर्श 2012 व 2013 में। उनकी इस एकल प्रस्तुति द वुमन हू डिड नॉट वान्ट टू कम डाऊन टू अर्थ का प्रीमियर 2012 में हुआ और उसके बाद इसे इज़राइल, ब्राज़ील और बुलगारिया में प्रदर्षित किया गया। आपकी नवीनतम् कृति बारकोड का प्रीमियर जून 2013 में हुआ। गेब्रियल निहॉस को अपने काम के लिये सरकारी और निजी स्रोतों से आर्थिक सहायता मिलती रहती है। 

पात्र एवं पार्ष्व परिचय

कृति और अभिनय - गेब्रियल निहॉस
वीडियो एडिटिंग - अयाला एहर्लिच और गेब्रियल निहॉस
प्रकाष - एसी गोट्समैन


 



Back

गांव नाथूपुर में अवैध कब्जे हटाकर जमीन खाली कराया
अनाधिकृत निर्माणों पर निगम सख्त
नीलांचल सोसायटी ने केरल त्रासदी के लिए गुरुग्राम में चलाया सहयोग संग्रह अभियान
तीन विकास कार्यों के टेंडर को दी गई मंजूरी
बादशाहपुर के हर गांव में कराए गए काम
बार एसो. ने केरल बाढ़ पीडि़तों के लिए दिए एक लाख 51 हजार
कैरियर गाइडेंस कार्यक्रम : छात्रों को दिए गए सफलता टिह्रश्वस
नशा रोकने के लिए कदम उठा रही है सरकार
स्वच्छता पखवाड़े के तहत इंडियन ऑयल ने बांटे डस्टबीन
एसएमडी स्कूल में रक्षाबंधन मनाया गया
आदर्श पब्लिक स्कूल (एपीएस 20) में मनाया गया ईद उत्सव
पंजाब को आगे बढ़ाएगा स्टार्टअप शिखर सम्मेलन
क्या हाल मिस्टर पांचाल में कन्हैया की भूमिका निभा रहे मनिंदर सिंह इस साल रक्षा बंधन का जश्न कैसे मना रहे हैं?
मुस्कान में आरती की भूमिका निभा रहीं अरीना डे इस साल रक्षा बंधन कैसे मना रही हैं?
लूट के प्रयास का एक आरोपी काबू
सोमवार से विधानसभा में हंगामे के आसार खैहरा गुट ने विधानसभा के बाहर लगाए सरकार के खिलाफ नारे
15 साल के शार्दुल को डबल ट्रैप में रजत
रमणीक स्थल बनाए जाने के बदले में लोगों को दिया डंपिग सेंटर
अटल बिहारी वाजपेयी के नाम पर रखे जाएंगे बड़े प्रोजेक्टों के नाम
बच्चें समाज का अभिन्न अंग : रामबिलास
Copyright @ 2017.